राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी की टीम ने भोपाल रायसेन सिलवानी में मारा छापा

चार संदिग्ध हिरासत में ,ठिकानों से आपत्‍तिजनक सामग्री मिली

एनआइए की करीब 12 सदस्यी टीम दिल्ली से आई थी। NIA राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी की टीम ने मध्यप्रदेश के भोपाल और रायसेन के साथ सिलवानी में छापामार कार्रवाई की। कार्रवाई में चार संदिग्‍ध लोगों को गिरफ्तार किया गया है। भोपाल में एनआइए की टीम ने गांधीनगर से एक युवक को हिरासत में लिया है।घर की संज्ञान तलाशी ली गई मोबाइल से लेकर सारी चीजों की छानबीन की गई। जुबेर के भाई नबेद पिता सफीक मंसूरी अभी सिलवानी थाने में बैठा कर एनआइए टीम ने पूछताछ की है। इसके अलावा अलावा पुराने भोपाल के मदरसे में पढ़ने वाले एक युवक को भी हिरासत में लिया है। यह युवक इंटरनेट मीडिया पर काफी सक्रिय था। एनआइए टीम ने इस बार छापामार कार्रवाई में स्‍थानीय पुलिस का भी सहयोग लिया। बताया जा रहा है कि एनआइए को इन लोगों के प्रतिबंधित आतंकी संगठन आइएसआइएस से जुड़े होने की सूचना पर मिली थी। एनआइए टीम ने इन संदिग्‍धों के ठिकानों से कुछ आपत्‍तिजनक सामग्री भी जब्‍त की है। शनिवार रविवार को सुबह एनआइए की टीम ने रायसेन के वार्ड क्रमांक चार ईदगाह क्षेत्र , सिलवानी के वार्ड नंबर 12 में स्थित नूरपुरा में काईवाई की है। NIA ने कार्रवाई कर युवक को पकड़ा है। उसके घर की पड़ताल करने के बाद सील कर गया। युवक के बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं है। बताया जाता है कि उससे मिली जानकारी के बाद एनआइए ने रविवार को सुबह 7 बजे से लेकर 10 बजे तक सिलवानी के वार्ड 12 नूरपुरा में छापामार कार्रवाई की है। सिलवानी के नूरपुरा में स्थित जुबेर पिता सफीक मंसूरी के निवास पर, जो भोपाल के एक मदरसा में शिक्षा प्राप्त कर रहा है, उसके घर पर एनआइए ने हर पहलू पर बारीकी से जांच की है।

Leave a Comment