अधीर रंजन ने स्मृति ईरानी के खिलाफ खोला मोर्चा

स्मृति ईरानी ने सीधे तौर पर बिना राष्ट्रपति लगाए नाम लिया , माफ़ी मांगे

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का अपमान करने पर कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने लिखित माफी मांग ली है। लेकिन यह मामला अभी थमता नजर नहीं आ रहा है। अब अधीर रंजन चौधरी ने स्मृति ईरानी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा स्मृति ईरानी ने राष्ट्रपति का नाम सीधे तौर पर बिना राष्ट्रपति बोले लिया। जो की सही नहीं है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ नया मोर्चा खोल दिया है। अधीर रंजन ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर मांग की है कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को देश से माफी मांगने चाहिए क्योंकि उन्होंने संसद में यह मुद्दा उठाते समय द्रौपदी मुर्मू के नाम के आगे ‘राष्ट्रपति’ शब्द का इस्तेमाल नहीं किया। अधीर रंजन की मांग है कि स्मृति ईरानी को ‘बिना शर्त माफी’ मांगने के लिए कहा जाए। बता दें, अधीर रंजन चौधरी ने मीडिया से बात करते समय महामहिम द्रौपदी मुर्मू के लिए राष्ट्रपत्नी शब्द का प्रयोग किया था। वहीं कांग्रेस नेता शशि थरूर ने ‘राष्ट्रपत्नी’ मामले में कांग्रेस के लोकसभा सांसद अधीर रंजन चौधरी का बचाव किया है। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि हमें इस मामले को अब छोड़ देना चाहिए। यह कोई मुद्दा नहीं है, इसका भ्रष्टाचार या सरकार की लापरवाही से कोई लेना-देना नहीं है। एक आदमी, जिसकी हिंदी शायद मेरी तरह है, ने गलती की। वहीं कांग्रेस महंगाई, बेरोजगारी, अग्निपथ योजना और आवश्यक वस्तुओं पर जीएसटी के विरोध में पांच अगस्त को राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन करेगी। कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने पार्टी की राज्य और जिला इकाइयों को लिखे पत्र में कहा है कि पहले से ही बढ़ी महंगाई के बीच आवश्यक उपभोक्ता वस्तुओं, खासकर दाल, खाद्य तेल, एलपीजी, पेट्रोल और डीजल की कीमतों में वृद्धि से आम आदमी पर असहनीय बोझ बढ़ गया है।

Leave a Comment